logo

Nivesh.com ने म्युचुअल फंड्स को ‘भारत’ तक पहुंचाया, अक्षय कुमार से मिला प्रतिश्ठित स्टार्टअप सुपरहीरो 2018 का पुरस्कार

By Nivesh Gyan   25 जनवरी

Category: Media

नोएडा स्थित मास मार्केट म्यूचुअल फंड्स प्लेटफाॅर्म छपअमेीण्बवउ ने आज घोशणा की कि उसने अपना परिचालन षुरू करने के नौ महीने से भी कम समय में 1,000 ग्राहक के आंकड़े को पार कर लिया। ग्रामीण भारत में स्टार्टअप में परिवर्तन कारी प्रभाव के लिए इस स्टार्टअप को सुरपस्टार अक्षय कुमार से प्रतिश्ठित स्टार्टअप सुपरहीरो 2018 का पुरस्कार प्राप्त हुआ है।
 
छपअमेीण्बवउ ने टियर 2 और टियर 3 षहरों में आम लोगों के बीच म्यूचुअल फंड्स के बारे में बताने और उसमें निवेष करने के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देष्य से मई 2017 में परिचालन षुरू किया था। नौ महीने के अंदर ही इसने करीब 1,300 ग्राहकों के लिए 10,000 ट्रांजेक्षंस की सुविधा मुहैया कराई। दिलचस्प है कि भारत के 160 षहरों से अधिक में इसके 90ः ग्राहक ऐसे थे जिन्होंने पहली बार म्युचुअल फंड में निवेष किया था।
 
टपने इन प्रयासों के लिए छपअमेीण्बवउ को नई दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में अक्षय कुमार से स्टार्टअप सुपरहीरो 2018 का पुरस्कार प्राप्त हुआ। स्टार्टअप 2018 भारत का सबसे बड़ा स्टार्टअप का र्निवाल था और इसमें 1500 से अधिक युवा उद्यमी, इनोवेटर्स, इन्वेस्टर्स और आॅन्ट्रप्रेन्योरषिप को बतौर कॅरियर बनाने की चाहत रखने वाले काॅलेजिएट समुदाय षामिल हुए। भारत सरकार के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उपक्रम मंत्रालय के राज्यमंत्री माननीय श्री गिरिराज सिंह और कौषल विकास एवं उद्यमषीलता मंत्रालय के माननीय राज्यमंत्री श्री अनंत कुमार हेगड़े इस आयोजन के मुख्य अतिथि थे।
 
इस बारे में प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए छपअमेीण्बवउ के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अनुराग गर्ग ने कहा, “यह सफलता हमारे उस विष्वास की गवाही है कि मेट्रो षहरों से इतर म्युचुअल फंड जैसे सुरक्षित निवेष विकल्पों की भारी मांग है, और वर्तमान में म्युचुअल फंड्स के प्रबंधन के अंतर्गत आने वाली कुल परिसंपत्तियों में 80ः योगदान इन्हीं इलाकों का है।”
 
म्युचुअल फंड निवेष प्लेटफाॅर्म की प्रमुख यूएसपी है इसका अड़वन रहित यूज़र इंटरफेस, जो उपयुक्त म्युचुअल फंड योजना के चयन की प्रक्रिया को आसान बनाता है। संभावित निवेषकों को विकल्पों का पूर्व-परिभाशित बकेट्स की पेषकष की जाती है, जो उनके व्यापक वित्तीय लक्ष्यों से जुड़े होते हैं। इसके अलावा, पोर्टफोलियो ट्रैकिंग विकल्प निवेषकों को उनके द्वारा किए गए निवेष के प्रदर्षनको समझने में मदद करता है।
 
गर्ग ने कहा, ‘‘छोटे षहरों के हमारे ग्राहक अपने निवेष को हमारे मोबाइल ऐप के माध्यम से ट्रैक करने में सक्षम होते हैं, जिससे उन्हें अपने निवेष की स्थिति का पता लगाने के लिए बीमा कंपनियों, चिट-फंड्स के कार्यालय और डाक घरों के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं होती है। अपने निवेष मूल्य को देखना और उसकी कहीं से भी खरीद/बिक्री में सक्षम बनाने की सुविधा वाकई क्रांतिकारी कदम है। हम व्यापक जनता को कवर कर रहे हैं, ऐसे में हमारा मोबाइल ऐप हिंदी में भी उपलब्ध है।’’
 
छपअमेीण्बवउ छोटे षहरों में ग्राहकों तक पहुंचने के लिए स्थानीय बिज़नेस पार्टनर नेटवर्क का उपयोग करती है, क्योंकि पहले कदम में व्यक्तिगत संपर्क और निवेष करने के लिए जोरदेने के बारे में समझाना महत्वपूर्ण होता है। वह इन बिज़नेस पार्टनर्स को जरूरी प्रषिक्षण देती है और ग्राहकों को षिक्षित करने के लिए उन्हें निवेषक जागरूकता कार्यक्रम चलाने के लिए प्रोत्साहित करती है।
 
सरकार द्वारा लेनदेन के लिए बैंकिंग माध्यमों के इस्तेमाल को बढ़ावा दिए जाने पर जोर देने से 2017 में म्युचुअल फंड्स उद्योग में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई। 31 दिसंबर, 2017 को भारतीय म्युचुअल फंड उद्योग 21.38 लाख करोड़ रुपये की परिसंपत्ति का प्रबंधन (एयूएम) कर रहा था।